संन्यासी का विलोम शब्द क्या है – Sanyasi Ka Vilom Shabd Hindi Mein

हिंदी व्याकरण टेस्ट START TEST

संन्यासी का विलोम शब्द गृहस्थ होता हैं। सन्यासी का मतलब सन्यास लेने वाले व्यक्ति से होता है। यह शब्द संसारिक बंधन से मुक्त होने के लिए एक व्यक्ति को संन्यास लेने की संकल्पना या फिर संन्यास धारण करने की स्थिति का वर्णन करता है।

Sanyasi

संन्यासी एक आध्यात्मिक पथ पर चलने वाला व्यक्ति होता है, जो सांसारिक बंधनों को छोड़कर आत्मसंयम, मोक्ष और आध्यात्मिक प्रगति की खोज में लगा होता है।

संन्यासी का विलोम शब्द क्या होता है

प्रश्न: संन्यासी का विलोम शब्द क्या होगा?

(अ) ऋषि

(ब) मुनि

(स) मनीषी

(द) गृहस्थ

उत्तर: (द) गृहस्थ

संन्यासी शब्द का अर्थ क्या होता है?

“सन्यासी” शब्द का अर्थ ऐसे व्यक्ति से होता है जो सांसारिक बंधनो को त्याग कर मोक्ष की खोज में निकल जाता है।

संन्यासी शब्द का वाक्य में प्रयोग

  • योगी और सन्यासी आत्मा की मुक्ति के लिए आध्यात्मिक अभ्यास में अग्रसर रहते हैं।
  • वह सन्यासी अपनी आध्यात्मिक यात्रा के दौरान सभी भोजनों से विरक्त था और केवल भिक्षा लेता था।
  • सन्यासी ध्यान में लगा हुआ था, उनकी आंखों में शांति की ज्योति जल रही थी।
  • उस संन्यासी ने सुख-दुख से परे जीने की शिक्षा दी।

संन्यासी का पर्यायवाची इन हिंदी

संन्यासी के कुछ पर्यायवाची शब्द हैं:

  • ऋषि
  • मुनि
  • मनीषी
  • योगी
  • तपस्वी

संन्यासी का स्त्रीलिंग शब्द

संन्यासी का स्त्रीलिंग शब्द होता है “संन्यासिनी“।

संन्यासी में उपसर्ग क्या है?

संन्यासी शब्द में उपसर्ग “सम्” है, जिसका अर्थ होता है “साथ” या “समेटकर”।

सारांश

सन्यास एक आध्यात्मिक पथ है जिसमें व्यक्ति अपने आपको सांसारिक स्थितियों से अलग करके उच्चतम आदर्शों की प्राप्ति के लिए समर्पित होता है।

समाज में संन्यासी को आदर्श व्यक्ति के रूप में सम्मान किया जाता है और उन्हें आध्यात्मिक ज्ञान और मार्गदर्शन का स्रोत माना जाता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *